Vani in hindi || वाणी का महत्त्व || क्या कहती है महान् विभूतियाँ वाणी के विषय में:-

Vani in hindi: कौवा और कोयल में कोई रंग का अंतर नहीं होता है। लेकिन Vani ही एक ऐसे मुंह से निकली हुई जुबान है जो किसी को भी प्रभावित करती है। Vani in hindi वाणी का हमारे जीवन में क्या महत्त्व है? कबीर, नानक, बोध गौतम और भी महान विभूतियों ने वाणी के बारे में क्या वक्तव्य दिया । चलिए इसी विस्तार से जानते हैं

वाणी हमारे जीवन (Vani in life) को सर्वाधिक प्रभावित करने वाला गुण है। क्या महत्त्व है जीवन में वाणी का? वाणी द्वारा कैसे पाया जा सकता है सुख? Vani द्वारा कैसे उपजता है दुख? जीवन में शान्ति और अशांति का वाणी से सीधा सम्बन्ध है। आइये देखें क्या कहती है महान् विभूतियाँ वाणी के विषय (subject of vani) में-

क्या कहती है महान् विभूतियाँ वाणी के विषय में (Vani in hindi)

1-बाणों से बींधा हुआ अथवा फरसे से कटा हुआ वन भी अंकुरित हो जाता है, किन्तु कटु वचन कहकर वाणी (Vani) से किया हुआ घाव नहीं भरता। -Veda Vyasa
2-जो व्यक्ति उपयोगी और अनुपयोगी का अन्तर समझ लेते हैं, वे कभी व्यर्थ शब्द व्यक्त नहीं करते। -saint thiruvallur
3-कठोर शब्दों में कहे गए हितकर वाक्यों को सुनकर भी मनुष्य रुष्ट हो जाता है। Bhas
4-कम बोलने से मन की शक्ति बढ़ती है। –Mahatma Vidur
5-मधुर वचन (Vani) सुनने में भी और कहने में भी प्रसन्नता देते हैं। लेकिन मधुर वचन अहंकार त्याग से ही सम्भव है। –Kabir

6-पशु न बोलने के कारण और मनुष्य बोलने के कारण कष्ट उठाते हैं। -bookman
7-कोमल उत्तर से क्रोध शान्त हो जाता है। कटु वचन से उठता है। -Bible
8-कठोर किन्तु हित की बात कहने वाले लोग थोड़े ही होते हैं। -Balmiki
9-शब्द से ही सृष्टि का उदगम् है और उसी में सृष्टि का विनाश और पुनः शब्द से ही सृष्टि की नई रचना होती है। -Guru Nanak Dev
10-प्रश्न का समय पर उपयुक्त उत्तर देना (Vani) आनंद प्रदान करता है। उचित समय पर कही गई बात ज्यादा वजन रखती है। -policy statement

महान विभूतियों ने वाणी के बारे में

11-झूठ बोलना (Vani) तलवार के घाव के समान है, घाव भर जाएगा, किन्तु उसका निशान सदा बना रहेगा। -sheikh saadi
12-गाली से प्रतिष्ठा नहीं बढ़ती दोनों ओर अपमान है। इस दुनिया में सबसे ज्यादा कमजोर चीज, कठोर बात है। -Sharat chandra
13-हृदय केवल हृदय की बात कर सकता है क्योंकि उसके पास Vani नहीं होती। -Mahatma Gandhi
14-वाणी से भी वाणों की वर्षा होती है। जिस पर इसकी बौछारें पड़ती हैं, वह दिन-रात दुखी रहता है। Balmiki
15-बोलना शिष्टाचार है और शिष्टाचार में सच और ईमानदारी होना आवश्यक है। -emerson

16-कठोर वचन (Vani) बुरा है क्योंकि तन-मन को जला देता है और मृदुल वचन अमृत वर्षा के समान है। -Kabir
17-न्यून वाणी मूर्खों की समझ में नहीं आती और अधिक बोलना विद्वानों को उद्विगन करता है। -Dhananjay
18-सत्य बोलें, प्रिय बोलें, किन्तु अप्रिय सत्य न बोलें। किसी के साथ व्यर्थ वैर और शुष्क विवाद न करें। -Acharya Manu
19-जो अपने मुख और जिह्वा पर संयम रखता है, वह अपनी आत्मा को सन्तापों से बचाता है। -Bible
20-मौन से अच्छा भाषण दूसरा नहीं। फिर भी बोलना पड़े तो जहाँ एक शब्द से काम चलता हो, वहाँ दूसरा शब्द न बोलें। -Mahatma Gandhi

वाणी का महत्त्व (Vani in hindi)

21-प्रिय होने पर भी जो वचन (Vani) हितकर न हो, उसे न कहें। हितकर कहना ही अच्छा है। चाहे वह सुनने में अत्यंत अप्रिय ही क्यों न हो। -Vishnu Purana
22-जो इंसान तोलकर नहीं बोलता, उसे सख्त बातें सुननी पड़ती हैं। -plain
23-पराक्रम तो भुजाओं में रहता है, न कि Vani में। -Banabhatt
24-जब मन और वाणी एक होकर कोई चीज माँगते हैं, तब उस प्रार्थना का फल अवश्य मिलता है। -swami ramakrishna
25-अगर झूठ Vani से किसी की जान बचती है तो झूठ बोलना पाप नहीं। –Premchand

26-झूठा वादा करने से विनम्र इंकार करना अच्छा है। -tolstoy
27-सबकी बात ध्यान से सुनो परन्तु अपनी सलाह केवल थोड़े ही मनुष्यों को दो। -Shakespeare
28-प्रत्येक स्थान और समय बोलने के योग्य नहीं। कभी-कभी मौन वाणी से ज्यादा प्रभावी सिद्ध होता है। Jai Shankar Prasad
29-जहाँ मनुष्य की जिह्वा बोलने में असमर्थ हो जाती है, वहाँ पत्थर बोलना प्रारम्भ कर देते हैं। -Swami Ramatirtha
30-मौन उस अज्ञानी के लिए आभूषण है जो ज्ञानियों की सभा में जा बैठा है। -Bhartrihari
31-नम्रता और मीठे वचन (Vani) ही मनुष्य का आभूषण है। -Swami Vivekanand
32-शब्द बड़ी साधना से उठ पाते हैं, उन्हें गिराने की चेष्टा नहीं होनी चाहिए। -Jainendra

निष्कर्ष

Vani in hindi के माध्यम से आप ने इस आर्टिकल के माध्यम से कुछ महान विभूति या, महापुरुषों ने वाणी के विषय (subject of vani) में क्या कहा मानव जीवन को कैसे प्रभावित करती है, क्या महत्त्व है और कैसे हम vaani पर लगाम दे सकते हैं। आदि तमाम जानकारी। आशा है आपको जरूर अच्छी लगी होगी ।

और अधिक पढ़ें: Ghamand Quotes || अंहकार के संदर्भ में महान् विचारकों का मत

1 thought on “Vani in hindi || वाणी का महत्त्व || क्या कहती है महान् विभूतियाँ वाणी के विषय में:-”

  1. Pingback: Mrityu In Hindi || मृत्यु क्या भयानक या आसान || महापुरुष क्या कहते Death के बारे में - God Gyan

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top